Pendri Talab Mungeli जानिए छत्तीसगढ़ की चमत्कारी पेंड्री तालाब की पूरी सचाई 2024

Satyapal
Satyapal - Website Manager
5 Min Read

Pendri Talab Mungeli छत्तीसगढ़ अपने धार्मिक और संस्कृत के लिए पूरे देश भर में जाना जाता है यहां लोगों की मान्यता और श्रद्धा बहुत ही ज्यादा ईश्वर के प्रति होता है इसी श्रद्धा और मान्यताओं को लेकर के छत्तीसगढ़ में बहुत चर्चित पिंडारी तालाब के बारे में यहां पर आपको जानने को मिलेगा।

Read More – Kankali Talab Raipur को गंगा घाट की तरह सजाया गया जय श्री राम🙏

पेंड्री तालाब छत्तीसगढ़ जिला मुंगेली

छत्तीसगढ़ जिला मुंगेली में यहां पेंड्री तालाब स्थित है जो की जिला मुख्यालय मुंगेली से महज 15 किलोमीटर दूर पर स्थित है ऐसा माना जाता है कि लोगों यहां पर स्नान करने आते हैं जो अपनी दुख पीड़ा आदि को याद करके इस तरह में स्नान करते हैं इस तालाब को सत्य सागर पेंड्री तालाब के नाम से भी जानते हैं हालांकि हर व्यक्ति की अपनी धार्मिक आस्था और मान्यता होती है जिस उसके हिसाब से लोग किसी स्थान ,विशेष उसको अपना आराध्य मानते हैं , क्योंकि धर्म और आस्था अपनी-अपनी जगह होती है।

Chhattisgarh Pendri Talab Mungeli Location

Pendri Talab Mungeli chhattisgarh
Image- CG Liv

छत्तीसगढ़ की मुंगेली जिले में स्थित पिंडारी तालाब ग्राम मनोहरपुर और बरबसपुर के आसपास स्थित है लोगों का मानना है कि यह एक चमत्कारी तालाब है साथ ही मुंगेली पेंद्र तालाब लोरमी रोड में स्थित है लोरामी स्थान से यहां तालाब मात्र 20 किलोमीटर दूर है जो की पिंडारी नामक गांव में यहां चमत्कारी तालाब है।

पेंड्री तालाब की सच्चाई

स्थानीय लोगों के अनुसार पेंद्री तालाब की चमत्कारी सच्चाई है वह लगभग 200 साल पुराना है ऐसा माना जाता है कि एक मजदूर रहता था जो अपने बैल भैंस के साथ अपनी पूरी मजदूरी करता था ।उसकी पशु कष्ट रोग से ग्रसित थे ,साथ ही उनका पशु बीमार था ।एक दिन वह व्यक्ति पीड़ित पशुओं के साथ तालाब के समीप पानी में उसका पैर जाता है तो वहां पुश बीमारी से ठीक होने लगता है यह देखकर वह आश्चर्यचकित हो जाता है साथ ही याद देखकर उसने भी उसे तालाब में नहाने का फैसला लेता है। नहाने के बाद उसको फर्क दिखाने लगता है यह देखकर के बुजुर्ग इस कहानी को आज भी दोहराते हैं क्योंकि रोगी व्यक्ति उसे तालाब में स्थान करने से स्वस्थ हो जाता है अभी यह कहानी सत्य है या असत्य यह आप स्वयं निर्णय कीजिए ।क्योंकि यहां धार्मिक मान्यताओं के रूप पर आधारित है इसका मैं स्वयं खंडन नहीं कर सकता हूं ।आप यहां खुद जान सकते हैं कि क्या गलत है क्या सही है

Read More – बैंक से पैसे कैसे कमाएं

पेंड्री तालाब में कौन कौन सी बीमारियाँ ठीक होती है?

  • चर्म रोग जैसी बीमारियां ठीक होती है जिनमें शामिल है
  • दाद
  • खुजली
  • घमौरी
  • खाज (स्कैबी)
  • सफेद दाग
  • मुंहासे
  • कुष्ट रोग
  • फोड़ा
  • फुंसी
  • रूसी
  • त्वचा का रंग बदलना
  • चिंगराज
  • बावासीर
  • भगंदर
  • नसों का चिपक

और भी बहुत से शारीरिक रोग हैं जिसका यहां ठीक होने की मान्यता माना जाता है अब हालांकि को भी शारीरिक रूप कितना गंभीर है और कौन से स्तर पर है ।इसकी जानकारी विशेषज्ञ डॉक्टर ही कर सकते हैं ।क्योंकि उसे पुराने समय के जो मान्यताओं के आधार पर यदि आप ऐसे ही चलते रहेंगे। तो आप उसे बीमारी से बहुत ज्यादा पीड़ित हो सकते हैं इससे अच्छा यह है कि आप किसी विशेषज्ञ डॉक्टर को क्या शारीरिक  रोग के बारे में जरूर बताइए।

पेंड्री तालाब कब जाना चाहिए

स्थानीय लोगों के अनुसार आप पैंटी तालाब हर सोमवार को जा सकते हैं क्योंकि लोगों की मान्यता है कि इस दिन जाने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है साथी रखी व्यक्ति को तीन बार जाना होता है आप सोमवार सोमवार को ही जाना बेहतर रहेगा इसके अलावा लोग अलग-अलग दिन भी रह सकते हैं क्योंकि धर्म और आस्था सब अपनी-आप की होती है

Pendri Talaab Mungeli Distance

तालाब छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में मनोहरपुर गांव और बरबसपुर गांव के पास स्थित है।

मुंगेली पेंड्री तालाब क्यों प्रसिद्ध है

लोगों का मानना क्या है कि यहां पर रोगी व्यक्ति के स्नान करने मात्र से उसके रोग मिट जाते हैं अब यह बात सत्य है या असत्य आप स्वयं जान सकते हैं

Pendri Talab Chhattisgarh Map

https://maps.app.goo.gl/XPzy18k1pYa7uptRA

Share This Article
By Satyapal Website Manager
Follow:
I am an Engineer and a passionate Blogger, who loves to share topics on Chhattisgarh Bollywood Chollywood news, and love share a quick update of chhattisgarhi Films, Chhattisgarh Actors-Actress News, Chhattisgarh Related Information